DecINC

मेंटर निदेशक का संदेश

Default

मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) ने भा.प्र.सं.बैं. को विशाखपट्टनम में नए भा.प्र.सं. के मेंटर संस्थान के रूप में नियुक्त किया है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय और आंध्र विश्वविद्यालय, जहां नए भा.प्र.सं. की शुरूआत की गई है, के सहयोग से नए संस्थान के लिए सावधानी पूर्वक तैयार की गई हमारी विस्तृत योजना के साथ सितंबर 2015 में हम अपनी पहली बैच प्रारंभ करने के लिए पूरी तरह तैयार थे। प्रबंधन में दो साल के स्नातकोत्तर कार्यक्रम (पीजीपी) के विद्यार्थियों के एक समूह के साथ आंध्र विश्वविद्यालय परिसर में हमारा अस्थायी परिसर 21 सितंबर, 2015 को प्रारंभ हुआ।

भा.प्र.सं.वि. में शिक्षा की गुणवत्ता को उच्चतम स्तर प्रदान करने के लिए पाठ्यक्रम रचना और शिक्षण भा.प्र.सं.बैं. के मानकों के अनुसार किया गया है। भा.प्र.सं.वि. के संकाय का चयन भा.प्र.सं.बैं. के पूर्णकालिक, सहायक और विजिटिंग फैकल्टी से किया गया है और इसके अलावा चुनिंदा बाहरी संकाय सदस्यों को भी आमंत्रित किया जाता है। संकाय सदस्य अध्यापन हेतु प्रति सप्ताह विशाखपट्टनम आते हैं, साथ ही छात्रों के शैक्षिक मार्गदर्शन और परामर्श के लिए अतिरिक्त समय भी प्रदान करते हैं। एक संभावित विद्यार्थी के रूप में, आपको मालूम होना चाहिए कि भा.प्र.सं.वि. की शिक्षण प्रक्रिया, चुनौतीपूर्ण, रोमांचक और, अंततः, पुरस्कृत करने वाली है।

मैं विश्वस्त हूँ कि आने वाले वर्षों में, भा.प्र.सं.वि. शिक्षण का एक जीवंत माहौल निर्मित करेगा और देश में परिवर्तनकारी उच्च शिक्षा के माध्यम से वैश्विक लीडर्स के निर्माण में व्यापक योगदान देगा।

प्रोफेसर आर श्रीनिवासनप्रभारी निदेशक, भा.प्र.सं.बै.मेंटर निदेशक, भा.प्र.सं.वि.